अब मैंने तुरंत उसका लंड अपने एक हाथ में ले लिया और हिलाने लगी। उसे बहुत मज़ा आ रहा था और कुछ देर बाद उसने मेरा सर पकड़ा और जबरदस्ती अपने लंड को मेरे मुहं में …..

 
loading...

हैल्लो। मेरे नाम निषिका है और आदित्य के साथ मेरा प्यार भरा जीवन बहुत अच्छा चल रहा था और अब हम धीरे धीरे एक दूसरे को मन से बहुत चाहने लगे थे और सेक्स में भी बहुत कुछ नया नया करने लगे थे, लेकिन हमने अब तक कभी सेक्स नहीं किया था। एक-दो महीने ऐसे ही निकल गये और फिर वॅलिंटाइन्स का दिन आ गया उस दिन आदित्य ने मुझे बहुत अच्छे से प्रपोज़ किया और हमने वो सारा दिन साथ में बिताया हमने एक बहुत अच्छे से रेस्टोरेंट में लंच किया फिर फिल्म देखने चले गये और शाम को एक बार फिर से एक रेस्टोरेंट में खाना खाने बैठ गए।

हम जो फिल्म देखने गये थे उसे लगे हुए एक हफ़्ता हो चुका था इसलिए थियेटर ज़्यादा भरा हुआ नहीं था और हमने दो कॉर्नर की सीट्स बुक की और हम चले गये। में अंदर की तरफ बैठी हुई थी और फिल्म चालू हुई और आदित्य ने मेरा हाथ पकड़ रखा था। उसके शुरुआत में ही 15 मिनट के बाद एक किसिंग सीन था जिसे देखकर मुझे भी किस करने का मन किया मैंने आदित्य का हाथ बहुत ज़ोर से पकड़ लिया और उसका मुहं अपनी तरफ किया और उसके होंठो के पास अपने होंठ ले गई। फिर आदित्य ने कहा कि में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और मुझे स्मूच करने लगा। फिर हम करीब दस मिनट तक स्मूच कर रहे थे और इस बीच आदित्य अब मेरे बूब्स को भी कपड़ो के ऊपर से दबाने लगा। फिर मैंने उससे कहा कि मुझे तुम्हारा लंड चूसना है और वो एकदम से डर गया था कि थियेटर में यह सब कैसे होगा और कहीं कोई हमें देख ना ले? नहीं तो कोई भी समस्या खड़ी हो सकती है।

फिर मैंने उससे कहा कि तुम बिल्कुल भी मत डरो, ऐसा कुछ नहीं होगा और मैंने उसकी जीन्स की ज़िप को खोल दिया और उसका लंड पकड़कर बाहर निकालकर अपने हाथ में ले लिया। जैसे ही मैंने उसका लंड अपने हाथ में लिया तो वो एकदम से मस्त हो गया और उसने अपनी दोनों आँखो को बंद कर लिया और मैंने यहाँ वहां पर देखा तो हमें कोई नहीं देख सकता था। अब में थोड़ा नीचे झुकी और मैंने उसका लंड अपने मुहं में ले लिया और उसके मुहं से आह्ह फुक्ककक की आवाज़ आने लगी थोड़ी देर चूसने के बाद में अपने एक हाथ से धीरे धीरे सहलाते हुए उसका लंड हिलाने लगी और फिर उसने अपना पानी छोड़ दिया और वो सारा गरम गरम लावा हमारे सामने वाली सीट पर गिर गया जहाँ पर कोई नहीं बैठा था। फिर इंटरवेल के बाद आदित्य ने मुझसे बोला कि उसे मेरे बूब्स को चूसना है तो मैंने चकित होते हुए उससे कहा कि क्या तुम पागल हो? तुम्हारा तो नीचे था, लेकिन मेरे बूब्स तो एकदम ऊपर ही है, किसी ने देख लिया तो क्या होगा? लेकिन वो अब मेरी कोई भी बात कहाँ सुनने वाला था? मैंने उस समय शर्ट पहनी हुई थी, उसने तुरंत मेरी शर्ट के ऊपर के दो बटन खोले और मेरा एक बूब्स बाहर निकाल दिया और पीछे से मेरी ब्रा का हुक भी खोल दिया, जिसकी वजह से बूब्स बहुत आसानी से बाहर आ गया। desi kahani , hindi sex stories ,hindi sex story ,sex story , sex stories , xxx story ,kamukta.com , sexy story , sexy stories , nonveg story , chodan , antarvasna ,antarvasana , antervasna , antervasna , antarwasna , indian sex stories 

में सच कहूँ तो उस समय में बहुत डर गई थी, लेकिन जैसे ही वो मेरे बूब्स को चूसने लगा तो मुझे बहुत मज़ा आने लगा और में धीरे धीरे उस डर को भूलने लगी थी। अब वो ऊपर से मेरे बूब्स को चूस रहा था और नीचे अपना एक हाथ मेरी पेंट में डाल रहा था जिसकी वजह से में एकदम मस्त हो चुकी थी क्योंकि वो कुछ देर बाद मेरी चूत में अपनी उंगली डाल रहा था और में पागल हो रही थी और जोश में आकर उसका मुहं अपने बूब्स पर दबा रही थी। तभी उसने ज़ोर से बूब्स पर काट लिया और एक प्यारी सी पप्पी दी, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और थोड़ी देर बाद मेरा भी पानी निकल गया। अब मैंने आदित्य से अपनी ब्रा का हुक बंद करने को कहा तो उसने कहा कि ऐसे ही रहने दो।

फिर फिल्म ख़त्म होने के बाद हम खाना खाने के लिए गये, तब भी मेरी ब्रा का हुक खुला ही था और मेरे बूब्स बहुत ढीले लटके हुए लग रहे थे, लेकिन आदित्य उन्हे बंद ही नहीं करने दे रहा था। फिर खाना खाते वक़्त आदित्य ने मुझे एक गिफ्ट दिया और वो एक छोटी सी रिंग थी और उस बॉक्स में एक छोटा पेपर था जिसमें लिखा हुआ था कि क्या तुम एक बार मेरे साथ सेक्स करना चाहोगी, क्योंकि मुझे तुम्हारे साथ सेक्स करना है? फिर मैंने वो लेटर पढ़ा और तुरंत उसकी तरफ देखकर उससे मुस्कुराकर पूछा कि कब? तो वो मेरे मुहं से यह शब्द सुनकर एकदम खुश हो गया और वो मुझसे बोला कि कल में तुम्हे अपने साथ कहीं पर लेकर चलता हूँ, लेकिन तुम स्कार्फ लेकर जरुर आना और अपना कोई एक आई-डी कार्ड भी। फिर मैंने उससे कहा कि ठीक है और फिर हमने खाना खाया और उसने मुझे मेरे घर पर छोड़ दिया और फिर वो भी अपने घर पर चला गया, लेकिन में सारी रात बस यही सोचती रही कि कल मेरे साथ क्या क्या होगा? और में यही सब सोचते सोचते ना जाने कब में सो गई।

फिर अगले दिन सुबह में आदित्य से मिली और वो अपनी बाईक पर आया था। फिर में उसकी बाईक पर पीछे बैठ गई और हम दोनों निकल गये, लेकिन पूरे समय मेरे मन में बस यही सवाल चल रहा था कि आज क्या होगा? और शायद उसके दिल में भी क्योंकि यह हम दोनों का पहला सेक्स था और वो मुझे होटल लेकर गया, वहां पर किराए से कमरे मिलते है। फिर उसने कहा कि उसे वो जगह उसके किसी दोस्त ने बताई, लेकिन वहां पर जाने से पहले उसने मुझे अपने चेहरे पर स्कार्फ बाँधने को कहा और हम वहां पर पहुंचे तो मैंने देखा कि वहां पर कई गाड़ियाँ खड़ी हुई है और एक आदमी डायरी लेकर बैठा हुआ था। फिर आदित्य ने मुझसे मेरा आई-डी कार्ड लिया और वो उस आदमी के पास गया जिसके पास डायरी थी। उस आदमी ने डायरी में कुछ एंट्री की और एक दूसरा आदमी हमे एक रूम तक ले गया वो आदमी अपने साथ में दो टावल, पानी की बॉटल और साबुन लेकर आया था। हम जैसे ही रूम में गये तो आदित्य ने उस आदमी से कहा कि दो घंटे और फिर आदित्य ने उसे कुछ पैसे दे दिए और दरवाजा बंद कर दिया। मेरे दिल में अब ना जाने क्यों बहुत तेज़ हलचल हो रही थी!

वो रूम थोड़ा छोटा था, लेकिन वहां पर एक बेड था और ठीक बेड के सामने एक बड़ा सा कांच लगा हुआ था जिसमें पूरा बेड दिख रहा था और एक कुर्सी रखी हुई थी और वॉशरूम में जाकर मैंने अपना स्कार्फ निकाल दिया और बेड पर जाकर बैठ गयी मेरे आने के बाद आदित्य वॉशरूम में चला गया। में अभी भी यही बात सोच रही थी कि अब क्या होगा? आदित्य वॉशरूम से आकर कुर्सी पर ठीक मेरे सामने बैठ गया और हम दोनों यहाँ वहां की बातें करने लगे। करीब दस मिनट के बाद मेरे चेहरे की बनावट को देखकर आदित्य ने मुझसे पूछा कि क्यों ऐसा क्या सोच रही हो?

में : नहीं, कुछ नहीं।

आदित्य : नहीं, तुम्हारे मन में कुछ तो जरुर चल रहा है और तुम वही सोच रही हो?

में : नहीं, बस ऐसे ही।

फिर इतना कहते ही वो मेरे बहुत करीब आ गया और उसने मेरा पैर सीधा किया। फिर इतना करते ही में एकदम से डर गयी कि अब क्या होगा? इतने में वो बेड पर लेट गया और अपना सर मेरी गोद में रखकर मेरी तरफ मुहं करके मुझे देखने लगा। मुझे बहुत अच्छा लगा कि उसने एकदम से कुछ स्टार्ट नहीं किया। फिर में अपने हाथ उसके बालों में घुमा रही थी, में लगातार उसे देख रही थी और वो भी मुझे देख रहा था। फिर मैंने धीरे से अपना सर नीचे किया और उसे किस किया और ऊपर हो गयी। फिर उसने फिर मेरा सर पकड़कर नीचे किया और मुझे स्मूच करने लगा। हमने करीब दस मिनट तक वैसे ही स्मूच किया। अब वो उठा और उसने लाईट को बंद किया और फिर आकर मुझे धीरे से बेड पर लेटा दिया। मैंने उस समय शर्ट पहनी हुई थी और वो धीरे धीरे करके मेरे शर्ट के एक एक बटन को खोलने लगा।

सारे बटन खोलने के बाद उसने मुझे थोड़ा सा उठाया और मेरी शर्ट को पूरा नीचे उतार दिया और पीछे से मेरी ब्रा का हुक भी खोल दिया और मेरी ब्रा को भी पूरा उतार दिया। वो मेरे बूब्स को देखता रहा और फिर एक बूब्स को अपने मुहं में लेकर चूसने लगा और दूसरे हाथ से दूसरे बूब्स को दबाने लगा। मुझे अब बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मैंने भी तुरंत उसकी शर्ट के बटन को खोल दिया और उसकी शर्ट को उतार दिया, उसने अंदर बनियान पहना हुआ था और मैंने उसे इशारा किया तो उसने वो भी उतार दिया और हम दोनों ऊपर से पूरे नंगे थे।

वो मेरे गले के पास में आकर मुझे किस करने लगा और नीचे जाते जाते मेरे बूब्स को चूसने लगा। वो मेरे निप्पल को भी ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और फिर उसने निप्पल पर एक बार ज़ोर से काट लिया और उस दर्द की वजह से में एकदम से चिल्ला उठी और मैंने आदित्य को धक्का दे दिया। फिर वो मेरे ऊपर आ गया और ऊपर से नीचे तक किस करते हुए जा रहा था। मेरे पेट पर जैसे ही उसने किस किया तो वैसे ही मेरे पूरे शरीर में एक अजीब सा करंट लगने लगा और में एकदम अकड़ सी गई और अब मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। इतनी देर में आदित्य ने मौके का फायदा उठाते हुए मेरी जीन्स का बटन खोल दिया और मेरी पूरी जीन्स को नीचे उतार दिया और फिर मुझे पेट पर किस करने लगा। वो अब थोड़ा नीचे आ गया मेरे पैर पर और फिर से किस करते हुए ऊपर आने लगा। वो मेरी चूत के वहां पर आकर अचानक से रुक गया और मेरी तरफ देखने लगा। फिर मैंने तुरंत अपनी दोनों आखें बंद कर ली और अब उसने मेरी चूत को पेंटी के ऊपर से धीरे से किस किया। मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था जिसको में आप सभी को शब्दों में नहीं बता सकती कि उस समय में कैसा महसूस कर रही थी?

में पूरी तरह से गरम होकर जोश में आकर उसके सर के बाल पकड़कर उसका सर अपनी चूत पर दबा रही थी। फिर मैंने उसे ऊपर किया और उसे बेड पर लेटा दिया। फिर में उसके ऊपर चड़ गई और मैंने उसके दोनों हाथ पकड़ लिए और उसे किस करने लगी। फिर में उसके गले पर किस कर रही थी और उसकी तरह ही उसे ऊपर से नीचे तक किस करने लगी। जैसे ही में उसके निप्पल के पास आ गई तो उसके मुहं से आअहह की आवाज़ आई जिसे सुनकर में तुरंत समझ गई कि उसे बहुत अच्छा लग रहा है। फिर में उसके निप्पल को चूसने लगी और वो भी एकदम मस्त हो गया। में धीरे धीरे नीचे जा रही थी और उसे किस कर रही थी। पूरे शरीर पर नीचे आते ही मैंने उसकी जीन्स को खोलकर उतार दिया और उसकी अंडरवियर को भी पूरा नीचे उतार दिया।

अब मैंने तुरंत उसका लंड अपने एक हाथ में ले लिया और हिलाने लगी। उसे बहुत मज़ा आ रहा था और कुछ देर बाद उसने मेरा सर पकड़ा और जबरदस्ती अपने लंड को मेरे मुहं में डाल दिया। मैंने भी जानबूझ कर थोड़ा नाटक करते हुए कुछ देर बाद धीरे धीरे लोलीपोप की तरह उसका लंड चूसने लगी और उसके बॉल्स को अपने हाथ से सहलाने लगी जिसकी वजह से उसे बहुत अच्छा लग रहा था और वो एकदम मस्त हो गया, लेकिन पता नहीं उसे अचानक से क्या हुआ और उसने मुझे तुरंत ज़ोर से ऊपर करके बेड पर लेटा दिया और वो मेरे ऊपर चढ़ गया और अपना लंड मेरी चूत में डालने लगा। मैंने पेंटी पहनी हुई थी इसलिए लंड अंदर नहीं जा रहा था, लेकिन उसे बहुत मज़ा आ रहा था और मैंने उसे थोड़ा ऊपर किया और अपनी पेंटी को उतार दिया। वो फिर से मेरे ऊपर आ गया और मुझे किस करते हुए उसने धीरे धीरे अपना लंड मेरी चूत में थोड़ा सा अंदर डाल दिया, लेकिन जैसे ही उसका मोटा लंड मेरी चूत के थोड़ा अंदर गया तो मुझे बहुत दर्द होने लगा और में ज़ोर से चिल्ला रही थी आआहह स्सीईईईईई उफ्फ्फफ्फ्फ़ प्लीज इसे बाहर निकाल दो मुझे बहुत दर्द हो रहा है ऊईईईइ माँ मर गई और अब आदित्य मुझे किस करने लगा और अपने लंड को धक्का देकर और भी अंदर डालने लगा। दोस्तों मैंने महसूस किया कि उसका लंड बहुत मोटा होने के साथ साथ लंबा भी था जिसकी वजह से मुझे बहुत दर्द हो रहा था। अब मैंने उसका हाथ इतनी ज़ोर से पकड़ लिया कि मेरे नाख़ून उसकी चमड़ी में घुस गये और वो धीरे धीरे दबाव बनाते हुए अपना लंड मेरी चूत में पूरा अंदर डाल रहा था और फिर बाहर निकाल रहा था, जिसकी वजह से मुझे भी अब बहुत मज़ा आने लगा था और में आहह्ह्ह्हह उफफ्फ्फ्फ़ हाँ और ज़ोर से चोदो मुझे आअहहहह आईईईई की आवाज़ें निकालने लगी थी।

फिर एकदम से मेरे सर में करंट आया और नीचे मेरी चूत में कुछ गरम गरम सा महसूस हुआ। दोस्तों आदित्य और में हम दोनों का पानी निकल गया था और कुछ देर बाद आदित्य फिर से बेड पर लेट गया और में उठकर वॉशरूम में चली गयी, लेकिन दोस्तों मुझे अब बहुत दर्द हो रहा था जिसकी वजह से मुझसे ठीक तरह से चला भी नहीं जा रहा था और साथ ही मुझे डर भी लग रहा था क्योंकि मैंने पढ़ा था कि पहली बार चुदाई करवाने के बाद चूत से खून भी आता है, लेकिन मुझे तो बिल्कुल भी खून नहीं आया और पता नहीं ऐसा क्यों हुआ, लेकिन उस दिन जो मुझे मज़ा आया और उस दिन जितना मुझे अच्छा लग रहा था वैसा आज तक कभी नहीं लगा। फिर में वॉशरूम से निकलकर बाहर आई और बेड पर जाकर आदित्य को हग कर लिया और उसने फिर मुझे गाल पर किस किया और हम थोड़ी देर वैसे ही लेटे रहे।

हम उठकर अपने कपड़े पहनने लगे और जैसे ही हमारे वहां से जाने का समय आया तो आदित्य ने मुझे हग किया और बोला कि में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ जान, आज का दिन में कभी नहीं भूल सकता, तुम्हारा बहुत बहुत धन्यवाद मेरे साथ सेक्स करने के लिए। फिर मैंने भी उसे ज़ोर से किस करके कहा कि तुम बहुत अच्छे हो और फिर हम दोनों वहां से चले गये। दोस्तों अब में अपने घर पर आकर पूरी रात अपनी वह पहली ना भुला देने वाली चुदाई की घटना के बारे में सोचती रही और मन ही मन बहुत खुश होती रही ।।



loading...

और कहानिया

loading...
3 Comments
  1. September 27, 2017 |
  2. September 27, 2017 |
  3. September 28, 2017 |

Online porn video at mobile phone


antrvasna chunmuniya dot com. hindi sex kahani didi ki klitantrwsna muslim girls ead ke time khule me sex hindi storysexstoryhindijijasaliwww.gandisexstories.comभाइबहनकीचुदाइSUNNY LAND GHUSYA HUA IMAGE HOT XXXxxx kahani2018 karAhigabisexividosHINDIKAHANIYASAXchar gundo ne seal tod rat bhar chudai ki antarvasna.commom ki chudai in hindisaxy stories in hindixxx hindi storiesxxx storihindi kamukta bhai bahan gorop sex x storisexxxxshobhachudai ke maje liye kahaniyadidi ki chaddiantrvasna hindi sexy storybahane ke gand ke chudei suban lage k sex khanihindiमाँ की ब्रा आहाहाहाRIYA KI MARATHI ANTARVASNA.COMantrvasnasaxstoriesxxnx. sasur putauo.comindian xxx sexy picswww.hindi fuking.comboobsphotokahaniMaine apni didi ko choda xxxxstoris.comhindisxestroyboobsphotokahaniरंडी परिवारxxx hindifontbalatkar ki kahani in hindiकामुकता डाँट काॅम आडियौदेशी तलाक सूदा ओरत की चूतmai didi rishtey marathi sex storyसेक्स पड़ोस की नै भाभी को छोड़ा की तड़प कर रोने लगी देसी हिंदी स्टोरीwww.hindissexstorynaukarhindisexstoriesभाभी की bosdi मुझे लंड की khinia16Sal kihanee xxxअंतरवासना भाई के साथ2018 कि सबसे नई कहानिantrvasnasaxstoriesdesisex storiessala jija or didi ki samuhik kahaniya with photumastram ki khaniyamuslimkamukta,commastram mast kahaniहिनदीसेकसीकहानीचुदाइdesi girl antervasna storisहद सेक्स वीडियो बहिन की चुदाई बंद कमरे में छोटी बहिन की चुदाई हदबहन ओर भाई के चुदाई के विडीयो बोलते बेलतेmom 50Sal didi 44sal antarvasna hindiladki ki chudai ki photomast hindi sexy storymeri kunwari jawani looti gunde ne antarvasnasexstories.comwww.xxx.kamukta.hindi.chudai.story.comXxx com 2018चार लंड वाला बुरbade boobs wale didi ne chodna sikhayaxnxx sex का मजा केसे आता है वो लडकी बतायेगीcal grl KI PEHLI GAIR MRD SE CHUDAI KI STORY & IMAGES HINDI MEdesi bhabhi ke sath sexanterwasnasexstories.comsasu ma ki chudikahanixxxhinde sax bhae bahn parkxxx.sax.doaktr.kamvali.sarabi.mastram ki kahani in hindi pdfindian sex kahani hindi meWww.hindikamuktasexstori.comबिधव कि जवानी को चोदामैसी की जबर जस्त चोदाई। पडाई मेkhnichudaihindi sexxy kahaniyaboobsphotokahaniwwwantervasanhinde.comtalab ke andar bur chudwaisunita aunty ki nangi xxx photohindisxestroyभुआ ने मुठ मारा सेक्स