हेल्लो दोस्तों क्या हो रहा है सब अच्छा चल रहा है न ? अगर नहीं चल रहा हो तो बताओ मैं सब ठीक करने के लिए आ गया हूँ | मुझे एक बात याद आई है जो आजसे दस साल पहले की है और आपसे कहे बिना मुझे रहा नहीं जाएगा | मैंने वैसे तो कई चूत का मज़ा लिया पर गाँव की जो चूत मैंने चोदी थी वो मुझे आज तक याद है | मैंने उसे बड़ी मुश्किल से हासिल किया था और वो भी बड़ी मस्त भाभी थी | देखिये दोस्तों आप तो जानते ही हो कि पहले के समय में सब लोग टट्टी करने बाहर जाया करते थे तो मैं उस समय बस १९ साल का था और मैं भी जाया करता था बाहर | उस समय इन सब चीज़ों को घर में बनवाना पाप माना जाता था | मैंने कई बार कई लड़कियों की गांड देखि और मुठ भी मारा पर ये जो भाभी थी इसकी गांड ने मुझे दीवाना बना दिया था | गाँव में ळाड्ख़्य़ीआँ हल्का होने के लिए बैठ जाती खेत में और मैं उसकी गांड देखता | किसी की मोटी किसी की पतली किसी की काली देखते ही सस्थ लंड खड़ा हो जाता था और मैं उनको चोदने के सपने देखने लगता था | मेरा नाम है मुन्ना और मैं आज असली कहानी आपके सामने लेकर आ रहा हूँ और मुझे पता है आप सब को ये बहुत पसंद भी आएगी क्यूंकि इस चुदाई है और भाभी भी है | भाभी जब भी हलके होने के लिए जाती मैं उनके पीछे जाके बैठ जाता ताकि वो मुझे देख ना पाए और वो आराम से अपना काम करके निकल जाती और मैं मुठ मारता रह जाता | फिर अगले दिन यही होता पर उस भाभी की सबसे अच्छी बात ये थी की वो पूरी साडी उठाके करती थी जिससे उसकी चूत का नज़ारा भी मिल जाता था | जब उसके चूत के दाने से उसका मूत निकलता तो मैं सोचता काश ये गरम पानी मेरे लंड पे लग जाए तो मज़ा आ जाये और यही सोचते सोचते मेरे लंड से मुठ की धार निकल जाती थी | एक दिन मैंने सके सामने जाने का मन बनाया और हिम्मत करके चला गया पर मुझे देखकर उसने साडी नीचे कर ली |

 

मैंने सोचा यहाँ से निकाल लो नहीं तो ये चिल्ला देगी और मेरी गांड फ्री में टूट जाएगी | फिर मैं वह से निकल गया और सोचने लगा की करू क्या | उसके बाद मैंने सोचा क्यूँ न इसके सामने अपना लंड निकालके मुठ मारना चालु करूँ तो शायद इससे कोई फायदा हो | ऐसा करते हुए मरी गांड फट रही थी पर अगर ये चीज़ सही बैठ गयी तो मेरा काम आसान हो जाएगा | अब वो रोज़ जाती और मैं उसके सामने खड़ा हो जाता पर वो साड़ी नहीं उठाती | जैसा मैंने सोचा था मैं अपना लंड निकाल के मुठ मारूंगा मैं वैसा ही करने लगा | ऐसा मैंने दो तीन दिन किया और वो वह से चली जाती | अगले दिन वो वहां आई और मैं भी आया और मैंने अपना काम चालू कर दिया उसने मुझे बुलाया और कहा तुझे और कोई काम नहीं है क्या करने दे न मुझे जो मैं करने आती हूँ | मैंने कहा मैंने तुझे कहा रोका तू कर न मैं तो अपना लंड हिलाता हूँ | उसने कहा कही और जाके हिला न | मैंने कहा मैं तेरे सामने अपना लंड निकाल लेता हूँ तुझे क्या दिक्कत है तू भी कर या तू कही और चली जा | उसने कहा गयी थी कल पर तू वहां भी आ गया | मैंने कहा मेरी मर्ज़ी अब तेरी मर्ज़ी तुझे करना है कि नहीं | फिर वो वहां से चली गयी और मैं अपना लंड हिलाता रह गया | मैंने सोचा की आज इतनी बात हुयी है कल ये गांड खोलके मेरे सामने बैठेगी भी | इसी उमेद में अगले दिन वह गया और इस बार उसने अपना मुह घुमाया और अपनी साडी उठाके बैठ गयी | ऐसा उसने दो तीन किया पर उसके बाद वो मेरे सामने बैठ गयी और मेरे लंड को देखने लगी और जैसे जैसे में हिलाता वो उसे देखती | उसने मेरे लंड को तब तक देखा जब तक मेरा मुठ नहीं निकला | उसके बाद वो पास आई और कहा ज़मीन के बच्चे पैदा करेगा क्या किसी लड़की को चोद जाके | मैंने कहा तुझे चोदना है आजा चुद्वाले | वो बिना कुछ कहे वहां से चली गयी और पीछे मुद के भी नहीं देखा | इस बार जब वो साडी उठाके बैठी तो मैं उसके बगल में चला गया और मेरे लंड को पास से देख रही थी | मैंने थोड़ी देर हिलाया और जैसे ही मेरा मुठ निकलने वाला था मैंने उसके ऊपर ही गिरा दिया और वो गुस्सा होने लगी |

 

मैंने कहा अरे जानेमन गुस्सा क्यों होती हो तेरे बच्चे हो जाएंगे | उसने कहा मेरे वैसे ही चार बच्चे हैं और नहीं चाहिए | मैंने कहा एक मेरा भी रख लेना | फिर वो अगले दिन आई और इस बार मैं उसके बाजू में बैठा | इस बार वो मेरे लंड को छू रही थी और मेरा लंड फनफना गया | वो मेरे लंड को ऐसे हिला रही थी जैसे की पूरा पीछे तक फाड़ देगी और मैं मस्ती में ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह कर रहा था | उसके बाद उसने मुझसे कहा तू मुझे चोदेगा क्या मैंने कहा पहले मेरा मुठ निकाल उसके बाद बताऊंगा तुझे | उसने बेरहमी से मेरा लंड हिलाया और मेरा ऐसा मुठ निकला की उसकी पूरी चूत उससे भीग गयी | उसने मेरा मुठ अपनी चूत पे माला और कहा कितना गाढ़ा है रे तेरा माल मैंने कहा तो मुह में लेले | वो उठ और मुझे भी खड़ा किया और झाडी के पीछे लेके गयी | उसने मेरा लंड फिर से हिलाना चालु किया और फिर जैसे ही मेरा लंड खड़ा हुआ उसे मुह में ले लिया | जैसे ही उसने अपने होंठ मेरे लंड पे लगाये मैंने ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह करना शुरु कर दिया | और उसके बाद मैंने उससे कहा मेरा मुठ पी लेना और उसने ऐसा ही किया | उसने काई बार ऐसा ही किया और अब तो वो हर रोज़ मेरा लंड पीने लगी थी पर दोस्तों जब भी वो मेरा लंड पीती मैं बस ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह ही करता क्यूंकि ऐसा लंड चूसने की डीएम किसी में नहीं थी |

 

मुझे जन्नत जैसा लग रहा था और मैं उसके दूध मसलने लगा था था जो कि काफी बड़े थे | उस समय ब्रा इतना नहीं पहना जाता था तो मैंने उसका ब्लाउज उतार दिया | वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसके दूध मसल रहा था और थोड़ी देर बाद मैं उसके मुह में ही झड़ गया | फिर मैंने उसके दूध को पीना शुरू किया और मुझे बड़ा मज़ा आरहा था | थोड़ी देर उसके दूध पीने के बाद वो ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह करने लगी | मैंने उसकी गांड को देखा और उसकी साडी उतार डी और उसकी गांड में ऊँगली डालने लगा | फिर धीरे से मैं उसकी चूत की तरफ हुआ और चाटना शुरू किया | वो जोर से ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह करने लगी | मैंने लंड जल्दी से डाला उसकी चूत में और उसे एक घंटे तक चोदा क्यूंकि मैं दो बार झड़ चुका था | वो  ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह चिल्ला रही थी फिर मैंने उसका मुह दबाया ताकि कोई सुन न ले | उसके बाद मैंने उसकी गांड भी मारी और रोज़ उसे तीन बार चोदता था पर उसकी चूत कभी ढीली नहीं पड़ी | उसने भी मुझे काफी चुदवाया कभी झाटों वाली चूत कभी चिकनी चूत पर मैंने चोद चोद के उसकी गांड और चूत और गांड को काला कर दिया | एक बार तो मैंने उसको तब चोदा था जब उसका पति उसके बगल में सो रहा था पर उस समय उसने सब समझा और आवाज़ नहीं निकाली और उसी समय मैंने पाना मुठ उसकी चूत में छोड़ दिया |  मैंने उसे एक साल तक लगातार चोदा वो माँ बनने वाली थी तब भी मैंने उसे रगड़ के चोदा और फिर वो और उसका पति गँसे कही चले गये |

Write A Comment


Online porn video at mobile phone


माँ की ब्रा आहाहाहाचुदाईAntrvasana storryमा को ब चोदाhindisxestroyaunty ki nangi photoantarwasna hindi kahaniyaWww.xxx.iandian.bhabi.ki.chut.ki.chodi.khani.video.comparbarik sekasi khaniyanaukrani ka bhosda phada hotel me new indian free sex storiesantarvasna hindi adla badli group sexantervasna storyaunty ki chudyihinadihindi sax sitorixxxvideohindi bhai bhancodaeचुतकी चोदा चोदी रीसतेमेxxxcudaistoretecher nay seel thodi xxxkhaniya hindmantrwasnasexstore.comBhai bahan ki antarwasama story xxxससूर नै बहू को चोदा ओर ससुर को बहु नै चूचि पिलाइ SEX विडियै।www buachodan comsilpek chudai sex khani hanid medeshi khanidesi antervashna new mail picsexikahanstroysexhindixxxbihari vidio daunlod ferisister bimari aantarvasnahindisaksikahaniysaxy stories in hindimarathi sexystoriespahli bar night me kamukta antarvasna dhokhe seचुदाईbhains bhainsa ka khel chudai ki antarvasna mastramxxx,v,xxxमाdesi girl antervasna storishindu cauple ki muslim cauple se adlabadli ki chudai ki kahani antarvasnablack mail karke mujhe jabardosti chodawww.pornkahanichachi.comWWW.LESIBIAN SEX HINDI SEWKAHANIYA.COMरसीली चुत सेक्स वीडियोstory of antarvasnahindisxestroydesi girl antervasna storishindi maa ki chutwww.1antarvsna.comsex hindi kahani dec2017mastrammalishdesisex storiesxxxmuthmar storydesi girl antervasna storissexikahananarvasna.comhindi story waIfe ki adla badli hapsi ke shathnewsexstoryhindisexkehani,inmaa or aunty ki chudai ek sath picnic m stiry antervasnanewsexistori.cSexranikahanibapbatihindisexsaheli ne apne chacha se mera udghatan karwaya antarvasna.comsaxy kahani hindiantarvasna on hindiindian sex stories audiomastram stories in hindipadosan ka balatkar16Sal kihanee xxxbhai bhan sex khani hindi me2018anterwasna story in hindiwwwhinde.dase sax kamukta stores .comchudaehindstorykamukta indian hindi sexhindisxestroyxnxx khani .com toiletdesi girl antervasna storishindisex stories in hindihttp//wwwxxx aaj kal Yaad kuch Aata school mein apniHindestorexxx ma bata16Sal kihanee xxxindian insects sex storiesChudai kahaniMARDhede me sexe vedeo chota boy ke gerls ke sat sexe vedeo davlodeg freemastram hindi storiessxyvasnaलड़की cuht की khojli हिंदी मुझेristno.me.deshi.hindi.gaand.ki.storynangi bhabhis