छोटे भाई नें बहन की चूत फाड़ चुदाई की



loading...

मेरा नाम पिंकी है मेरा छोटा भाई मुकेश बारहवीं में पढ़ता है। वह गोरा चिट्टा और क़रीब मेरे ही बराबर लंबा भी है और वह मुझे दीदी कहता है। मैं इस समय 20 की हूँ और वह 18 का। मुझे मुकेश के गुलाबी होंठ बहुत प्यारे लगते हैं, दिल करता है कि बस चबा लूँ। पापा मिस्त्री है और माँ प्राइवेट जॉब में हैं। माँ कई बार जॉब की वजह से कहीं बाहर जाती रहती हैं उन दिनों मैं घर में बस हम दो भाई बहन ही रह जाते थे।

एक बार माँ तीन दिनों के लिए बाहर गई थी। रात को हमने डिनर के बाद कुछ देर टीवी देखा फिर अपने-अपने कमरे में सोने के लिए चले गये।

क़रीब एक घंटे बाद प्यास लगने की वजह से मेरी नींद खुल गई। बोतल देखी तो ख़ाली थी, मैं उठकर रसोई में पानी पीने गई तो लौटते समय देखा कि मुकेश के कमरे की लाइट जल रही थी और दरवाज़ा भी थोड़ा सा खुला था। मुझे लगा कि शायद वह लाइट ऑफ करना भूल गया है, मैं ही बंद कर देती हूँ। मैं चुपके से उसके कमरे में गई लेकिन अंदर का नज़ारा देखकर मैं हैरान हो गई।

मुकेश एक हाथ में कोई किताब पकड़कर पढ़ रहा था और दूसरे हाथ से अपने तने हुए लंड को पकड़कर मुट्ठ मार रहा था। मैं कभी सोच भी नहीं सकती थी कि इतना मासूम लगने वाला लड़का ऐसा भी कर सकता है। मैं दूर चुपचाप खड़ी उसकी हरकत देखती रही, लेकिन शायद उसे मेरी उपस्थिति का आभास हो गया, उसने मेरी तरफ़ मुँह फेरा और दरवाज़े पर मुझे खड़ा पाकर चौंक गया।

वह बस मुझे देखता रहा और कुछ भी ना बोल पाया। फिर उसने मुँह फ़ेर कर किताब तकिए के नीचे छुपा दी। मुझे भी समझ ना आया कि क्या करूँ। मेरे दिल में यह ख़्याल आया कि कल से यह लड़का मुझसे शरमायगा और बात करने से भी कतराएगा। घर में इसके अलावा और कोई है भी नहीं जिससे मेरा मन बहलता।

मुझे अपने दिन याद आए, मैं और मेरा एक कज़न इसी उमर के थे जबसे हमने मज़ा लेना शुरू किया था, तो इसमें कौन सी बड़ी बात हुई अगर यह मुट्ठ मार रहा था।

मैं उसके पास गई और उसके कंधे पर हाथ रखकर उसके पास ही बैठ गई वह चुपचाप रहा।

मैंने उसके कंधों को दबाते हुए कहा- अरे यार, अगर यही करना था, तो कम से कम दरवाज़ा बंद कर लिया होता।

वह कुछ नहीं बोला, बस मुँह दूसरी तरफ़ किए रहा।

मैंने अपने हाथों से उसका मुँह अपनी तरफ़ किया और बोली- अभी से यह मज़ा लेना शुरू कर दिया? कोई बात नहीं, मैं जाती हूँ, तू अपना मज़ा पूरा कर ले। लेकिन ज़रा यह किताब तो दिखा।

मैंने तकिए के नीचे से किताब निकाल ली। वह हिंदी में लिखी मस्तराम की किताब थी। मेरा कज़न भी बहुत सी किताबें इसी लेखक की लाता था और हम दोनों ही मज़े लेने के लिए साथ-साथ पढ़ते थे। चुदाई के समय खानियों के डायलोग बोलकर एक दूसरे का जोश बढ़ाते थे।

जब मैं किताब उसे देकर बाहर जाने के लिए उठी तो वह पहली बार बोला- दीदी, सारा मज़ा तो आपने ख़राब कर दिया, अब क्या मज़ा करूँगा।

“अरे, अगर तूने दरवाज़ा बंद किया होता तो मैं आती ही नहीं !”

“अगर आपने देख लिया था तो चुपचाप चली जाती !”

अगर मैं बहस मैं जीतना चाहती तो आसानी से जीत जाती लेकिन मेरा वह कज़न क़रीब 6 महीने से नहीं आया था इसलिए मैं भी किसी से मज़ा लेना चाहती ही थी। मुकेश मेरा छोटा भाई था और बहुत ही सेक्सी लगता था इसलिए मैंने सोचा कि अगर घर मैं ही मज़ा मिल जाए तो बाहर जाने की क्या ज़रूरत। फिर मुकेश का लौड़ा अभी कुंवारा था। मैं कुंवारे लंड का मज़ा पहली बार लेती इसलिए मैंने कहा- चल अगर मैंने तेरा मज़ा ख़राब किया है तो मैं ही तेरा मज़ा वापस कर देती हूँ।

मैं पलंग पर बैठ गई और उसे चित्त लिटाया और उसके मुरझाए लंड को अपनी मुट्ठी में ले लिया। उसने बचने की कोशिश की पर मैंने लंड को पकड़ लिया था।

अब मेरे भाई को यक़ीन हो चुका था कि मैं उसका राज़ नहीं खोलूँगी इसलिए उसने अपनी टांगें खोल दी ताकि मैं उसका लंड ठीक से पकड़ सकूँ। मैंने उसके लंड को बहुत हिलाया, सहलाया लेकिन वह खड़ा ही नहीं हुआ।

वह बड़ी मायूसी के साथ बोला- देखा दीदी, अब खड़ा ही नहीं हो रहा है।

“अरे क्या बात करते हो ! अभी तुमने अपनी बहन का कमाल कहाँ देखा है, मैं अभी अपने प्यारे भाई का लंड खड़ा कर दूँगी।” ऐसा कह मैं भी उसकी बगल में ही लेट गई, मैं उसका लंड सहलाने लगी और उसे किताब पढ़ने को कहा।

“दीदी मुझे शर्म आती है !”

“साले अपना लंड बहन के हाथ में देते शर्म नहीं आई?” मैंने ताना मारते हुए कहा- ला, मैं पढ़ती हूँ।

और मैंने उसके हाथ से किताब ले ली। मैंने एक कहानी निकाली जिसमें भाई बहन के डायलोग थे और उससे कहा- मैं लड़की वाला बोलूँगी और तुम लड़के वाला।

मैंने पहले पढ़ा- अरे राजा, मेरी चूचियों का रस तो बहुत पी लिया, अब अपना बनाना शेक भी तो मुझे चखा !

“अभी लो रानी, पर मैं डरता हूँ इसलिए कि मेरा लंड बहुत बड़ा है तुम्हारी नाज़ुक कसी चूत में कैसे जाएगा।”

और इतना पढ़ कर हम दोनों ही मुस्करा दिए क्योंकि यहाँ हालत बिल्कुल उल्टे थे। मैं उसकी बड़ी बहन थी और मेरी चूत बड़ी थी और उसका लंड छोटा था। वह शरमा गया लेकिन थोड़ी सी पढ़ाई के बाद ही उसके लंड में जान भर गई और वह तन कर क़रीब 6 इंच का लंबा और 1.5 का मोटा हो गया।

मैंने उसके हाथ से किताब लेकर कहा- अब इस किताब की कोई ज़रूरत नहीं। देख, अब तेरा खड़ा हो गया है, तू बस दिल में सोच ले कि तू किसी की चोद रहा है और मैं तेरी मुट्ठ मार देती हूँ।

मैं अब उसके लंड की मुट्ठ मार रही थी और वह मज़ा ले रहा था, बीच बीच में सिसकारियाँ भी भरता था। एकाएक उसने अपने चूतड़ उठाकर लंड ऊपर की ओर ठेला और बोला- बस दीदी !

और उसके लंड ने गाढ़ा पानी फैंक दिया जो मेरी हथेली पर गिरा। मैं उसके लंड के रस को उसके लंड पर लगाती और उसी तरह सहलती रही और कहा- क्यों भाई, मज़ा आया?

“सच दीदी, बहुत मज़ा आया !”

“अच्छा यह बता कि ख़्यालों में किसकी ले रहा था?”

“दीदी शर्म आती है, बाद मैं बताऊँगा !” इतना कह उसने तकिए में मुँह छुपा लिया।

“अच्छा चल अब सो जा, नींद अच्छी आएगी। और आगे से जब ये करना हो तो दरवाज़ा बंद कर लिया करना !”

“अब क्या करना दरवाज़ा बंद करके दीदी, तुमने तो सब देख ही लिया है !”

“चल शैतान कहीं का !” मैंने उसके गाल पर हल्की सी चपत मारी और उसके होंठों को चूमा। मैं और क़िस करना चाहती थी पर आगे के लिए छोड़ कर वापस अपने कमरे में आ गई।

अपनी शलवार कमीज़ उतार कर नाईटी पहनने लगी तो देखा कि मेरी कच्छी बुरी तरह भीगी हुई है मुकेश के लंड का पानी निकालते निकालते मेरी चूत ने भी पानी छोड़ दिया था। अपना हाथ कच्छी में डालकर अपनी चूत सहलाने लगी तो स्पर्श पाकर मेरी चूत फिर से सिसकने लगी और मेरा पूरा हाथ गीला हो गया। चूत की आग बुझाने का कोई रास्ता नहीं था सिवा अपनी उंगली के।

मैं बेड़ पर लेट गई, मुकेश के लंड के साथ खेलने से मैं बहुत उत्तेजित थी और अपनी प्यास बुझाने के लिए अपनी बीच वाली उंगली जड़ तक चूत में डाल दी, तकिए को सीने से कसकर भींचा और जांघों के बीच दूसरा तकिया दबा आँखें बंद की और मुकेश के लंड को याद करके उंगली अंदर-बाहर करने लगी। इतनी मस्ती छा गई थी कि क्या बताऊँ, मन कर रहा था कि अभी जाकर मुकेश का लंड अपनी चूत में डलवा लूँ।

उंगली से चूत की प्यास और बढ़ गई इसलिए उंगली निकाल तकिए को चूत के ऊपर दबा औंधे मुँह लेटकर धक्के लगाने लगी। बहुत देर बाद चूत ने पानी छोड़ा और मैं वैसे ही सो गई।



loading...

और कहानिया

loading...


Online porn video at mobile phone


chut marn की estori भाई bhain पाओghandi bate land kahani xxxलण्ड दबा दियाटीचर स्टूडेंट चढ़ाईसमुहिक bur चुदाइ कहानियाँ daijest antrwasnaxxx kahine hindixxx hot pati patni ki chudai seal thodi rat mbhabhy sexy mob video chudaechudayiki sex kahaniya. indian sex stories com. antarvasna com/tag/page no 77--120--222--372--384bachpan me ladki ki chut todi storyभाई बहन की सेक्सी कहाणी मऱ्हाटी मेभडवे चोदोरिश्तेदारों में सामूहिक चुदाईtechat ne banayaxxxdidi.ne.di.panty.aur.chut.ki.mahekmaster je ki kamuktaxxx कृ के साथ हिनदीगोदी में चुपके से चुद गईंchut dene or leni bali khaniyahindi sex stories/chudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/antarvasna Hindi sex kahaniya feer meri bahendedi.rel.bhai.sex.2050.comसफ़र मे साली को चोदाdidi ne gift me apni kuari chut dihindesixe.comkuware devar ko sex sikhiya kahaneगुलाबी चुत चाटने का आनंद.comverjush sexi vidio clip onlinesix khani hindi meनई चूत फडवाई खून .xxx.comsex kahanea man and janwar//re.zavodpak.ru/jizzbo/page/15hindi sex story wapchache xxx satory hindikahaniya chut kioffice ki chudai ki kahani hindibry lun se boy ki gand marrny ki urdu khanianचुदाई चुद की कहानीxxx bur chut chdi land lauda story khaniधोडी चुत धोडे लनristo ki hot rep balatkar hindi kahani bhai behanANTRAVASANA MAA KI CHUT MARI BETE NEmastram antysex kahaniy jabardasti karke sex kiyakhade.2.gori.gand.mare.hindgh.kahani.com.मेरी चूत में जबरदस्ती लन्ड घूसाrandi banayasex.comkamukta storisxxx ki kahanimami or bhanj ki porn khaniy hindimaunty aur bhabhi ki chut mari x 8 motel unse kahani hindi maiटीचर ने किया अपने ही सिष्य का सेक्स बिडीवो pron bibi ke samane anti ko grup me coda sex storinahe dashe kahane xxxmosi ka bahut bada bhosda kahani hindibra axd panty utar kar bhabhi ki xxx kahani hindi meक्सक्सक्सdede.ke.gand.mare.nend.me.hindekhanepati ka mubola bhai xxx kahanimastram ki free kahaniya in hindimaa ne jabardasti beti ki seal tudwaai kahaanianti ne rat ko bulakar chudya storyमाँ बहन की कहानियाँ kamuktasex.comdoodhwali sex stories mob. combhabhi ki shad ek rat bita neka sexxxy.comrosni ko barsta me codoअतरवाशनाaunty aur bhabhi ki chut mari x 8 motel unse kahani hindi mai//re.zavodpak.ru/jizzbo/tag/sexy-kahaniyan/मा को ब्लेकमेल करके चोदा बेटे ने कहानीmasi bed xxx story in hindixxx sexy new hot hindi non vhej kahani hd image sex sagar kahaniमा बेटा अनटी ऐक साथ चूदाई देशी सेक्सी काहनियाbarish ki raat me sex ki hindi storystory pandit aur mausi ke chudai hindi me xxx imageChoti bahen ki seal laptop me live sexy dikhakar sexy kahani xxx storyHENDE SAKSE KHANExxx video ajnbi chod ke chala gayadarawani sexy kahaniyanमा को ट्रेन मे चोदा चुदाई की कहानीया .comहिन्दी में बात करके चुदना hd XXXcomsexkahaniबुरbhaichod chod na sale bedha sex storrhapne chote bhai ke sath xxx khani.comKOI DEKH RHA H SEX KHANImeri randi mom aur doodhwala x.chadi.khainekamawale ki cudi ki xx storynew hinde x kaniyaxxx papa kahanenaukar ne baltkar sex antrvsnhttp://googleweblight.com/i?u=//re.zavodpak.ru/jizzbo/%25E0%25A4%259C%25E0%25A4%25B5%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%25A8-%25E0%25A4%25AD%25E0%25A4%25A4%25E0%25A5%2580%25E0%25A4%259C%25E0%25A5%2580-%25E0%25A4%2595%25E0%25A5%2580-%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%25B0%25E0%25A5%2580-%25E0%25A4%259C%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2582%25E0%25A4%2598-%25E0%25A4%25A6%25E0%25A5%2587/&grqid=PSTRLH0K&s=1&hl=en-INदीदी की चुत सजा दीmummy ko chache ne nangi karke choda.sex storyबबिता चाची की चोदाईकी कहानीबहन को बांधकर चुदाई कीindian xxx video devar nee babhi koo pishee see chodha xnxxbahan aur bibi ne milkr chudwaya xnxxx