पड़ोसन भाभी की गान्ड चुदाई

 
loading...

हेलो दोस्तो मेरा नाम जे है और मैं गुजरात का रहने वाला हूँ, ये सेक्स स्टोरीस इन हिन्दी मेरी और एक भाभी की है, मेरी उमर 25 साल है और मैं एक मंक मे जॉब कराता हूँ और मेरे लॅंड का साइज़ 6.5” है और 2’’ मोटा है और अगर कोई भाभी और आंटी मुझे सेक्स के लिए इन्वाइट करना चाहती है तो मुझे मैल कर सकती है.

मेरी ये कहानी आज से 2 साल पहले की है जब मैं 23 साल का था और मैं आपनी पढ़ाई ख़त्म करके घर आया था. वैसे तो सब दिन नॉर्मल बीत रहे थे लेकिन जब एक दिन मैं बाजार से घर आया तो मैने देखा की एक लड़की जो बहुत खूबसूरात है और मेरी मम्मी से बात कर रही थी.

उनको देखते ही मूह मे पानी आ गया क्या माल थी उनकी उमर करीब 28 साल थी और उनका फिगर 36,30,36 था, उनके बड़े बड़े बूब्स को देख कर मेरे मूह मे पानी आ गया था. मैं तो उनको देखता ही रह गया और थोड़ी देर बाद वो चली गयी.

उसके जाने के बाद मैने मम्मी से पुचछा की को थी?

तो मम्मी ने बताया की आपने पड़ोस मे रहने आई है उनके पाती किसी बॅंक मे जॉब करते है. उस दिन मैने उनकी याद मे 2 बार मूठ मारी और सो गया.

फिर जब मैं अगली सुबह उठा तो मैने देखा की वो बाल्कनी मे कपड़े सूखा रही है, तो मैं बाल्कनी मे जाके उनको देखने लगा और जब वो कुच्छ लेने नीचे झुकी तो मैं उनके बूब्स को देख के इतना एक्शिटेड हो गया की मुझे फिर से मूठ मारनी पड़ी.

फिर सब नॉर्मल हो गया था रोज सुबह उतना और उनको बाल्कनी मे जाके देखना और अब उनको भी पता चल गया था की मैं उनको देखने के लिए बाल्कनी मे खड़ा रहता हूँ.

एक दिन मैं बाल्कनी मे खड़ा तट तो मैने देखा की वो बहुत सारा समान लेकर ऑटो से उतार रही है, तो मुझे ध्यान आया की लिफ्ट मे प्राब्लम की वजह से लिफ्ट बाँध है, तो मैने झट से नीचे उतार कर उनको पुचछा की मैं आपकी हेल्प कर सकता हूँ.

तो उसने हाँ कहा और मैने उनके बाग लेके उनके घर पर छोड़ दिए और मैं निकल ही रहा था की उसने कहा की रूको मैं कुच्छ ठंडा लेकर आती हूँ, फिर उसने मेरे लिए जूस बनाया और मुझे दिया और बात करने लगी की क्या करते हो.

मैने कहा जॉब ढूँढ रहा हूँ और फिर हम आपस मे बात करने लगे, उसने आपना नाम कविता बताया, जब हम बात कर रहे थे तब मैं उनके बूब्स को बार बार देख रहा था और उनको ये बात पता चल गयी थी. फिर मैं वाहा से निकला और घर जाकर सीधे बाथरूम मे मूठ मरने लगा.

फिर एक दिन शाम को मैं घर लोटा तो मम्मी ने बताया की कविता भाभी को कंप्यूटर के लिए आपका कुच्छ काम है तो आपको बुलाया है, तो मैं फ्रेश होकर उनके घर चला गया और देखा की दूर लॉक था, तो मैने दूर बेल बजाई तो कविता भाभी ने दरवाजा खोला.

मैं उनको देखता ही रह गया क्योकि उस टाइम उन्होने ब्लॅक नेट वाला गाउन पहना हुआ था जिसमे उनके बूब्स का उभर सॉफ दिख रहा था, उसने मुझे अंदर बुलाया.

तो मैने कहा क्या काम है?

तो उसने कहा मेरे कंप्यूटर मे नेट न्ही चल रहा है तो ठीक कर डीजये.

मैने उनका कंप्यूटर स्टार्ट किया और नेट कनेक्ट कर रहा था तो वो मेरे पास मे बैठी थी, तो मुझसे कंट्रोल नही हो रहा था और मैं बार बार उनके बूब्स को देख रहा था.

तो उसने पुचछा क्या देख रहे हो?

तो मैने कहा कुच्छ नही.

और फिर उसने अचानक मुझे पुचछा की आपकी कोई गर्लफ्रेंड है?

तो मैने कहा नही तो.

उसने कहा इतने हॅंडसम हो फिर भी कोई गर्लफ्रेंड नही?

मैने कहा आप जेसी की मिली नही अभी तक.

उसने कहा ऐसा क्या है है मुज़मे?

तो मैं कुच्छ बोला नही और उनके बूब्स की और देखने लगा.

तो वो शर्मा गयी और वाहा से किचन मे जाने लगी पर मैने उनको पिच्चे से पकड़ कर उनके गले पे किस करने लगा, वो च्छुदाने की कोशिश कराती रही लेकिन च्छुदा नही पाई, फिर मैने उनको आयेज किया और उनके होतो पे किस करने लगा.

अब वो धीरे धीरे मेरा साथ देने लगी और मुझे किस करने लगी, मैने उनको ज़ोर ज़ोर से किस करना स्टार्ट किया तो वो भी ज़ोर ज़ोर से करने लगी. फिर मैं उनको उठा के उनके बेडरूम मैं ले गया और बेड पर लिटा के उनको किस करने लगा.

अब वो पूरी तरह तैयार थी, तो मैने उनके बूब्स को दबाना स्टार्ट किया, वो ज़ोर ज़ोर से सिसकिया लेने लगी. मैने उनके गाउन को निकलना स्टार्ट किया और उनके बूब्स को दबाने लगा और फिर वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी मे थी, तो मैने उनके बूब्स ब्रा के उपर से दबाना स्टार्ट किया और धीरे धीरे उनकी ब्रा भी खोल दी, तो उनके बूब्स और भी मजेदार लग रहे थे.

फिर मैं एक हाथ से उनके बूब्स दबा रहा था और एक हाथ से उनकी चुत को रग़ाद रहा था, वो ज़ोर ज़ोर से ह.. ह.. की सिसकिया ले रही थी. मैने उनकी पेंटी निकल दी और ज़ोर ज़ोर से उनकी चुत को रगड़ने लगा, उनकी चुत पूरी गीली हो गयी थी.

मैने उनकी चुत को चाटना स्टार्ट किया तो वो मज़े से उच्छल रही थी और मज़े ले रही थी और उनकी सिसकिया सस्स्ससी.. स्शह.. अहह… उहह.. कर के पूरे रूम मे गूँज रही थी.

फिर मैं लेट गया और उसने मेरी पेंट निकल ली और मेरे अंदरवेर के उपर से ही मेरा लॅंड सहलाने लगी और बीते करने लगी. फिर उसने मुझे नंगा कर दिया और मेरे लॅंड को चूसने लगी, थोड़ी देर बाद हम दोनो झाड़ गये.

उसने मेरा सारा पानी आपने मूह मे लिया और पीने लगी और मेरे लॅंड को ज़ोर ज़ोर से चूस कर फिर से तैयार कर दिया, फिर हम दोनो 69 मे आ गये मुझे उनकी चुत का टेस्ट बहुत अच्छा लग रहा था और वो तो ऐसे लॅंड चूस रही थे जेसे बहुत दिन से भूखी हो.

फिर उसने कहा अब न्ही रहा जाता तो मैने उनको लेता दिया और उनके उपर जाकर मेरे लॅंड को उनकी चुत पर रगड़ने लगा, तो वो ज़ोर ज़ोर से अहह.. आस्सस्स… आह.. सिसकिया लेने लगी. फिर मैने ज़ोर से एक धक्का मारा की आधा लॅंड उनकी चुत मे चला गया और वो ज़ोर से चीख पड़ी, पर मैने फिर स्लो स्लो स्टार्ट किया.

इस कहानी को पढ़ने के बाद आपने विचार नीचे कॉमेंट सेक्षन मे ज़रूर लिखे, ताकि डेसिखहनि पर कहानियों का ये दूर यूँ ही चलता रहे.

थोड़ी देर बाद उनका दर्द कम हो गया तो मैने ज़ोर ज़ोर चोदना स्टार्ट किया और वो ज़ोर ज़ोर से चीखने लगी और मज़े लेने लगी, फिर मैं नीचे चला गया और वो मेरे उपर आ कर मेरा लॅंड चुत मे डाल कर उच्छल उच्छल कर चुद रही थी और बोल रही थी और ज़ोर से चोदा और ज़ोर से चोदा और सिसकिया ले रही थी.

करीब 15 मिंट बाद हम साथ मे झाड़ गये और फिर 30 मिनिट बाद मैने उनके बूब्स को रब करना स्टार्ट किया और उसने भी मेरे लॅंड को सहलाना स्टार्ट किया और फिर से मैने उनके उपर जाकर उनको चोदने लगा.

इस बार 30 मिनिट्स तक लग अलग पोज़िशन मे चोदा डॉगी स्टाइल मे भी चोदा, फिर भी नही निकला तो मैने उनको कहा की मुझे गांड मारनी है पर माना करने लगी. फिर थोड़ा संजने के बाद वो मन गयी और बॉडी लोशन लेकर आई और मेरे लॅंड के उपर लगाया और उनकी गांड मे भी थोड़ा लगाया.

फिर वो डॉगी स्टाइल मे हो गयी और मैने आपना लॅंड उनकी गान्ड पर रखा और ज़ोर से धक्का मारा तो वो चीख पड़ी और फिर थोड़ी देर हम ऐसे ही रहे और बाद मे मैने स्लो स्लो स्टार्ट किया और फिर उसे भी मज़ा आने लगा तो वो भी आयेज पिच्चे हो कर चूड़ने लगी.

फिर हम दोनो साथ मे झाड़ गये और मेने आपना सारा पानी उनकी गान्ड मे छोड़ दिया.

फिर जब भी हमे मोका मिलता हम सेक्स करते थे औ मैने कई बार उनकी गान्ड भी मारी है.



loading...

और कहानिया

loading...


Online porn video at mobile phone


चोदने का सौभाग्यsardi ke din me bus me chudwa liya indian marathi sex kathawww.gandikhaniya.com/%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%ae%xxx कैराना बच्चाlatest sexy storysफिगर षेकशबुढे ने मुठ मारना सिकायाससूर नै बहू को चोदा ओर ससुर को बहु नै चूचि पिलाइ SEX विडियै।Me mery femeli mera gavभाइबहनकीचुदाइbhoot bankar drakar chocs sexyबहू ऩे अपने ससुर से चुदाई हिँदी कहानियाdost ki choti bhen shubhangi ko chodajabarjasti xxxki kahani padanewalawashroomchudaistoryaamairiki sexidesi girl antervasna storisantarvasna में पति के जाते बीcudaistoreiantervasnamastramsexअंतर वासना हॉट चुदाई2018xxxkahanibabajeevidhaw beti ko bap ne choda hindidesi girl antervasna storishindi ma saxekhaneyajangle laqkiyan sax movihindisxestroyचची की चूड़ी हिंदी नई हिट सेक्स स्टोरीजkahani.xxx.hi.busnaukarhindisexstoriesherohan xxx chude videoswwwantervasanhinde.comxxx kahani सौते समय गाड मारने रिश्तेदारोंIndian 2018 sex kahani salwar girls nokar ke sath gandi galiyo wali hindi chudai storiesचौदाने के फौटौसwife swaping sexy katha marathi new2018sister ki chudai story hindixxxxnxnbfhindisxestroysachchi kahani apnijubani gand mrani kimausi ki chudai ki kahaniantarvassna story in hindihindi secximastram ki hindi kahaniya in hindi fontxxxdhoke se bulake apne ghr me16Sal kihanee xxxkahani.xxx.hi.अजनबी।से।चूदाई।hindesixe.comबहु भाभी ममी की जबरदस्ती दूध की चुदाईantarvasana storieshindisxestroyChudai kahaniMARDhindi sex stories bhai bahanहिनदीसेकसीकहानीचुदाइbhabhi ki janghboobsphotokahaniphali baar mamak padosh k ladka ka saat sex story in hindisavita bhabhi story in hindi photomastram net tag badi umar ki auratoo ki chudai with hot sex photoeshindisxestroyantarvasn.HD.TV.potoकामुकता डौट कम लडकी ने कुता सकस सटौरीचुदाईstroysexhindiधुप में हुई चुदाई क्सक्सक्स स्टोरी इन हिंदीmammy bahan ki group chudai ajnavi se hindi group kamukta.omboobsphotokahaniindainsexstory.comdesi girl antervasna storisseaxy storiessexy story marathi hindimaa ko dhood wale ne dabocha porn storylaba soot nigro मेरे घर कि ब्लू फिल्म हिंदी सेक्स story 20 vashnaseksstories of aunty sexhindi ma saxekhaneyaहिंदी सेक्सी स्टोरीज इन लेटेस्ट इन हॉट क्सक्सक्स अंकल भतीजी