मेरी शादी करवा दो

 
loading...

दिल की कोमल उमंगों को भला कोई पार कर सका है, वो तो बस बढ़ती ही जाती हैं। मैंने भी घुमा फिरा कर माँ को अपनी बात बता दी थी कि मेरी अब अब शादी करवा दो।

माँ तो बस यह कह कर टाल देती… बड़ी बेशरम हो गई है… ऐसी भी क्या जल्दी है?

क्या कहती मैं भला, अब जिसकी चूत में खुजली चले उसे ही पता चलता है ना ! मेरी उमर भी अब चौबीस साल की हो रही थी। मैंने बी एड भी कर लिया था और अब मैंने एक प्राईवेट स्कूल में टीचर की नौकरी भी करती थी। मुझे जो वेतन मिलता था… उससे मेरी हाथ-खर्ची चलती थी और फिर शादी के लिये मैं कुछ ना कुछ खरीद ही ही लेती थी। एक धुंधली सी छवि को मैं अपने पति के रूप में देखा करती थी। पर ये धुंधली सी छवि किसकी थी।

पापा ने सामने का एक कमरा मुझे दे दिया था, जो कि उन्होने वास्तव में किराये के लिये बनाया था। उसका एक दरवाजा बाहर भी खुलता था। मेरी साईड की खिड़की मेरे पड़ोसी के कमरे की ओर खुलती थी। जहाँ मेरी सहेली रजनी और उसका पति विवेक रहते थे। शायद मेरे मन में उसके पति विवेक जैसा ही कोई लड़का छवि के रूप में आता था। शायद मेरे आस-पास वो एक ही लड़का था जो मुझे बार बार देखा करता था सो शायद वही मुझे अच्छा लगने लगा था।

कभी कभी मैं देर रात को अपने घर के बाहर का दरवाजा खोल कर बहुत देर तक कुर्सी पर बैठ कर ठण्डी हवा का आनन्द लिया करती थी। कभी कभी तो मैं अपनी शमीज के ऊपर से अनजाने में अपनी चूत को भी धीरे धीरे घिसने लगती थी, परिणाम स्खलन में ही होता था। फिर मैं दरवाजा बन्द करके सोने चली जाती थी। मुझे नहीं पता था कि विवेक अपने कमरे की लाईट बन्द करके ये सब देखा करता था। मेरी सहेली तो दस बजे ही सो जाती थी।

एक बार रात को जैसे ही सोने के लिये जा रही थी कि विवेक के कमरे की बत्ती जल उठी। मेरा ध्यान बरबस ही उस ओर चला गया। वो चड्डी के ऊपर से अपना लण्ड मसलता हुआ बाथरूम की ओर जा रहा था। मैं अपनी अधखुली खिड़की से चिपक कर खड़ी हो गई। बाथरूम से पहले ही उसने चड्डी में से अपना लण्ड बाहर निकाला और उसे हिलाने लगा। यह देख कर मेरे दिल में जैसे सांप लोट गया, मैंने अपनी चूत धीरे से दबा ली। फिर वो बाथरूम में चला गया। पेशाब करके वो बाहर निकला और उसने अपना लण्ड चड्डी से बाहर निकाला और उसे मुठ्ठ जैसा रगड़ा। फिर उसने जोर से अपने लण्ड को दबाया और चड्डी के अन्दर उसे डाल दिया। उसका खड़ा हुआ लण्ड बहुत मुश्किल से चड्डी में समाया था।

मेरे दिल में, दिमाग में उसके लण्ड की एक तस्वीर सी बैठ गई। मुझसे रहा नहीं गया और मैं धीरे से वहीं बैठ गई। मैंने हौले हौले से अपनी चूत को घिसना आरम्भ कर दिया… अपनी एक अंगुली चूत में घुसा भी दी… मेरी आँखें धीरे धीरे बन्द सी हो गई। कुछ देर तक तो मैं मुठ्ठ मारती रही और फिर मेरी चूत से पानी छूट गया। मेरा स्खलन हो गया था। मैं वहीं नीचे जमीन पर आराम से बैठ गई और दोनो घुटनों के मध्य अपना सर रख दिया। कुछ देर बाद मैं उठी और अपने बिस्तर पर आकर सो गई।

सवेरे मैं तैयार हो कर स्कूल के लिये निकली ही थी कि विवेक घर के बाहर अपनी बाईक पर कहीं जाने की तैयारी कर रहा था।

“कामिनी जी ! स्कूल जा रही हैं?”

“जी हाँ ! पर मैं चली जाऊँगी, बस आने वाली है…”

“बस तो रोज ही आती है, आज चलो मैं ही छोड़ आऊँ… प्लीज चलिये ना…”

मेरे दिल में एक हूक सी उठ गई… भला उसे कैसे मना करती? मुस्करा कर मैंने उसे देखा- देखिये, रास्ते में ना छोड़ देना… मजिल तक पहुँचाइएगा !

मैंने द्विअर्थी डायलॉग बोला… मेरे दिल में एक गुदगुदी सी उठी। मैं उसकी बाईक के पास आ गई।

“ये तो अब आप पर है… कहाँ तक साथ देती हैं!”

“लाईन मार रहे हो?”

वो हंस दिया, मुझे भी हंसी आ गई। मैं उछल कर पीछे बैठ गई। उसने बाईक स्टार्ट की और चल पड़ा। रास्ते में उसने बहुत सी शरारतें की। वो बार बार गाड़ी का ब्रेक मार कर मुझे उससे टकराने का मौका देता। मेरे सीने के उभार उसके कठोर पीठ से टकरा जाते। मुझे रोमांच सा हो उठता था। अगली बार जब उसन ब्रेक लगाया तो मैंने अपने सीने के दोनों उभार उसकी पीठ से चिपका दिये।



loading...

और कहानिया

loading...


Online porn video at mobile phone


antrvasnasaxstoriesmom ko ak uncle chod rahe theमाँ बेटे की चुदाई शादी kinangi indian ladkiyanrajsharma storeg dede ke cudaebehan bhai ki kahaniyaभाइबहनकीचुदाइkhine hinde rande hot sex comxxnx sapan chodhaer HD hotwww.pornkahanichachi.comचुदाईभाई वहन कि चुदाईantarvasn hindinokar ka shat hinde x kaniyapati ke yar ke sath masti sexy kahaniagay sex kahanigujaratisexstoriदीं क्सक्सक्सpublic sex hindi kahaniभैया के दोस्त ने पटक कर चोदा x कहानीखोत मे चुवाई हिंदी कXXXDESISTORIkuch paiso ke liye poor girl chudi xxxsarita bhabhi sex story hindi.comhindisxestroyholiantravasnawwwantervasanhinde.compahele bar cudwate ha xxx videofree xxx adult porn story in hindi in antervasanaHINDASEXSTORYnokar ka shat hinde x kaniyaकामुकता डौट कम लडकी ने कुता सकस सटौरीantarvasna sex ससुर ने बहू को संडास करते देखा hindi gandi kahaniबहू का पसीना sexstorybhaibhanxxxkhanixxx sex with storyantrvasna chunmuniya dot com. hindi sex kahani didi ki klitkunwari duhan ki suhagrat antarvasnasexstories.comसेकस कहानी भाभी ओर बुवा की चुदाइ दफ्तर ओर बस मेDesi kisi ka bi ho jabardati vidiohindisxestroyboobsphotokahanixxx sex story Hindi restomi chodi 2016antrvasnasaxstoriesbehan bhai ki chudai storibate.soie.bata.xxxmast ram ki 2018ki mast chudai ki kahaniya hindi mechudai kahani lando ki adla badlibur me lund imageantrvasnasaxstoriesbest camerasकमिनी की xxx कहानीबुआ की चुदाई कइसेक्सय स्टोरी इन हिंदीnewhetsexhindisxestroywww xhxx com vldoe lndoalrajsharma storeg dede ke cudaeहिंदी सैकस कहनी बिडीयोsardi ke din me bus me chudwa liya indian marathi sex kathaBhn ki chut mare usky sisural mybabi ne nanand ko sex karna sekaye antravasanawww buachodan comhandi sex storishadysexstoryhindixxx Neend Aati Hui ladkikamukta niu chodan dot com. Hindi sexi kahani or didi soti rah gaiindiansex xxxपुदी चुटनाdesi hindi sexy kahiney bahabiantarvashnasexystorybalatkarchudaewww.1antarvsna.comजानवर का मोटा लड़ से चुदाई कहानीपड़ोस की भाभी को पटाकर छोड़ने की स्टोरीअंतर्वस्त्र चुके चुसाई स्टोरantar vasnabhai bhain ke cut cudeybahanbhaisexstoriesnyi samuhik kahaaniyanaukrani ka bhosda phada hotel me new indian free sex storiesdesi girl antervasna storisxxxstorishindehindisxestroyचाची को चोदने की कहानीpahli bar night me kamukta antarvasna dhokhe sexxx hindi meSearch "www six mommy"chachi ki chaddiwww.1antarvsna.comantrvasnasaxstoriesngf sex ladis hindesexwap merichudai kahanibf kahanidesi girl antervasna storisxxx kahani बल्तकार क्या होता है