नेहा की चूत का कुआं बनाया

 
loading...

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम जीवन है और में आपको फिर से एक नयी स्टोरी बताने जा रहा हूँ. अब पहले में आपको मेरे बारे में कुछ बताता हूँ, में पुणे में रहता हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है, कलर मीडियम, मेरी उम्र 22 साल है. अब में आपका ज्यादा समय ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ. यह कहानी तब कि है जब में 12वीं क्लास में था.

तब मेरी क्लास में नेहा नाम की एक लड़की थी, वो एकदम परी जैसी दिखती थी, उसे देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए, वो ऐसी थी. हम सब दोस्त उसे देखते रहते थे. फिर एक दिन में बाइक पर जा रहा था, तब मैंने रास्ते में बहुत भीड़ देखी. फिर मैंने अपनी गाड़ी साईड पर लगाई और देखा तो नेहा वहाँ गिरी हुई थी, उसे चोट आई थी. फिर मैंने उसे उठाया और उसकी गाड़ी साईड में लगाई और उसे डॉक्टर के पास ले गया. अब वो चल भी नहीं पा रही थी तो मैंने उसे उठाकर लेटा दिया.

फिर डॉक्टर ने उसकी फटी ड्रेस काटकर पट्टी कर दी. उसका घर बहुत दूर था तो मैंने उससे कहा कि तुम मेरे घर पर आराम करो, में तुम्हें शाम को छोड़ने जाऊंगा तो फिर में उसे अपने रूम पर ले आया. अब उसे उठाते वक्त में उसके बूब्स दबा रहा था. अब उसे सीढ़ियों पर चलना नहीं आ रहा था, तो मैंने उसे फिर से उठा लिया और उसे उठाते वक्त उसके बूब्स और गांड दब गयी. अब में तो सातवें आसमान में पहुँच गया था. फिर रूम में आते ही मैंने उसे बेड पर लेटा दिया, उसके पैर और हाथ को बहुत चोट आई थी. फिर मैंने उसकी ड्रेस को निकाल दिया, अब वो मुझे देख रही थी, अब वो सिर्फ़ ब्रा में थी. अब टॉप निकालते वक्त मैंने कई बार उसके बूब्स दबाए थे, लेकिन वो कुछ नहीं बोली थी.

फिर मैंने उसे अपनी टी-शर्ट दी और शाम को उसे उसके घर छोड़ने चला गया. फिर रूम पर आते वक्त मुझे उसका मैसेज आया थैंक्स. फिर दूसरे दिन में उसकी गाड़ी ठीक करवाकर उसके घर गया, तो उसके घरवाले शादी में गये थे. अब में उससे बातें कर रहा था तो मेरा ध्यान सिर्फ़ उसके बूब्स और गांड पर जा रहा था. उसने सिर्फ़ बनियान टाईप टॉप पहना हुआ था और उसके निपल उसमें से उभरे हुए दिख रहे थे, उसने नीचे शॉर्ट पहनी थी, वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी.

अब मेरे अंदर का शैतान जाग गया था. फिर मैंने कहा कि तुम बहुत हॉट दिख रही हो, तुम्हारा फिगर तो एकदम कड़क है यार, तो उसने सिर्फ़ स्माइल दे दी. फिर मैंने उसकी चोट देखने के लिए उसके हाथ को देखा तो उसने मेरे हाथ में क्रीम लगाने को दी. उसको छाती पर भी थोड़ी चोट लग थी. फिर मैंने धीरे से उस पर अपना हाथ रख दिया.

अब में उसके बूब्स को सहला रहा था और अब में अपने दोनों हाथों से उसके बूब्स को ज़ोर-ज़ोर से दबा रहा था, तो वो मुझसे लिपट गयी और बस करो कहने लगी. फिर मैंने उसे किस करना शुरू किया और अब किस करते-करते मैंने उसे सोफे पर ही नंगा कर दिया था. अब मैंने उसके बूब्स मसलते हुए लाल कर दिए थे और वो बहुत ही गर्म हो चुकी थी, फिर मैंने मेरी पेंट निकाली और उसके मुँह में मेरा 7 इंच का लंड डाल दिया. अब वो पहले तो मना कर रही थी, लेकिन बाद में आइसक्रीम की तरह चूस रही थी.

अब में उसकी चूत में अपनी दो उंगलियां डालकर अंदर बाहर कर रहा था, तभी उसने पानी छोड़ दिया. अब में भी उसके मुँह में ही झड़ गया था, तो उसने मेरा सारा माल पी लिया. फिर से थोड़ी देर तक मेरा लंड चूसने के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था. अब उसे देखकर वो चौंक गयी थी और बोली कि ये तो बहुत बड़ा है, में नहीं लूँगी.

फिर मैंने उसका एक पैर ऊपर उठाया और अपने कंधे पर रखा और उसकी गांड के नीचे एक तकिया रख दिया. फिर मैंने उसे किस करते हुए उसकी चूत पर अपना लंड रख दिया, जो कि अब लोहे की रोड बन चुका था. फिर मैंने एक ही झटके में अपना पूरा लंड उसकी चूत के अंदर डाल दिया, तो वो ज़ोर-ज़ोर से मुझे मारने लगी. अब उसकी आँखो से आसूं आ गये थे और अब में उसे दबोचकर ज़ोर-ज़ोर से चोदे जा रहा था. फिर धीरे-धीरे उसका दर्द कम हुआ और वो भी अपनी गांड उठा-उठाकर उसकी चूत चुदवा रही थी.

फिर करीब 20 मिनट के बाद में झड़ गया, अब मेरा सारा माल उसकी चूत में से बाहर आ रहा था, उसकी चूत में मेरे लंड का सीधा हाल दिख रहा था. अब में उसके पास में ही पड़ा हुआ था और उसके बूब्स को अपने मुँह में लेकर उसके निप्पल को चूस रहा था. अब मेरा लंड फिर से उठ गया था और फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और उसकी गांड पर अपने हाथ से मारने लगा. अब मैंने उसकी गांड पर मार-मारकर लाल कर दी थी. अब मुझे उसकी गांड मारनी थी, लेकिन उसने मना कर दिया था.

फिर मैंने उसके दोनों हाथों को पीछे से पकड़ते हुए उसकी गांड पर अपना लंड रख दिया और उसकी चूत का रस उस पर लगा दिया और ज़ोर से एक झटका लगाया तो वो चीख पड़ी और मुझसे दूर भागने लगी, लेकिन मैंने उसे कसकर पकड़ा हुआ था. अब मेरा आधा लंड अंदर जा चुका था और फिर मैंने फिर से एक धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी गांड में अंदर चला गया. अब वो जोर-जोर से चीखे जा रही थी, फिर मैंने अपने धक्के बढ़ाए. अब उसकी चूत के रस के कारण पच पच पच ऐसी आवाज़ पूरे घर में गूँज रही थी.

अब पूरा सोफा पानी-पानी हो गया था. अब में उसकी चूत में कुआं खोद रहा था और अब मैंने अपने दोनों हाथों से उसके बूब्स पकड़े हुए थे और उन्हें खींचे जा रहा था और उसे चोदे जा रहा था. अब वो मेरे धक्को से आगे पीछे हो रही थी और आहह उम्म्म आहह आहह आईईईई ऐसे चीख रही थी. फिर मैंने उसे नज़र अंदाज करते हुए मजबूत ठुकाई चालू की. अब उसकी गांड में जब मेरा लंड अंदर जा रहा था, तब मेरे बॉल उसकी गांड पर लगते और ढप्प ढप्प की आवाज़ आती.

अब वो तो पड़ी-पड़ी आ आ आ कर रही थी, बस करो दर्द हो रहा है ऐसे बोली जा रही थी. अब मैंने उसकी गांड का भोसड़ा बना दिया था. मैंने उसकी चूत और गांड दोनों की जमकर चुदाई की थी. फिर मैंने उसे उठाया और उसके कमरे में ले गया और उसे बेड पर लेटाया. फिर मैंने उसकी दोनों टाँगे मेरे कंधे पर रखी और उसकी चूत पर फिर से अपना लंड रख दिया.

फिर मैंने फिर से उसकी चुदाई चालू की. अब उसकी चूत बिल्कुल ढीली हो गयी थी और अब मेरा लंड जब अंदर जाता तो में धीरे से उसे अंदर डालता और बाहर निकालते समय झट से बाहर लाता, जिससे उसे बहुत मज़ा आ रहा था. अब मैंने उसका सारा दर्द गायब कर दिया था. अब वो बोल रही थी कि अब में तेरे लंड की प्यासी बन चुकी हूँ, ये चूत अब सिर्फ़ तुम्हारी है, तुझे मुझे चोदना था ना अब जमकर चोद, उसका भोसड़ा बना दे, खा जा उसे पूरा. फिर में उसके ऊपर लेट गया और उसके मुँह में अपना मुँह डालकर उसकी जीभ चूस रहा था और अपने दोनों हाथों उसके बूब्स दबाता तो कभी उसके निपल को खींच रहा था.

अब उसके पूरे बूब्स पर मेरे नाख़ून और दाँत के निशान लगे थे. अब हम दोनों जंगली जानवर की तरह सेक्स कर रहे थे. फिर मैंने उसे अपनी बाहों में भरकर खूब चोदा और मेरा पानी उसके अंदर ही छोड़ दिया. अब वो तो कई बार अपना पानी छोड़ चुकी थी, फिर उसने अपनी चूत को हाथ लगाया तो उसकी चूत उसके पानी से भर गयी थी और वो शर्मा गयी.

फिर मैंने उसे किस किया और उसे बाथरूम में ले गया. फिर हम दोनों ने बाथरूम में खड़े-खड़े सेक्स किया और फिर मैंने उसे उठाकर अपने लंड पर बैठाया और उसे ऊपर नीचे करने लगा. अब उसने अपने दोनों हाथों से मुझे पकड़ा हुआ था और अब वो छोटे बच्चे के जैसे मुझसे लिपटी हुई थी. अब हम दोनों बहुत थक चुके थे और फिर मैंने उसे अपनी बाहों में भरकर आई लव यू कहा और चला गया. तब से में उसको जब भी मेरा मन चाहे तब चोदता हूँ और खूब इन्जॉय करता हूँ.



loading...

और कहानिया

loading...
One Comment
  1. August 21, 2016 |

Online porn video at mobile phone


hindi saxiकामुकता कामकाहानीयाerotic sexy stories in hindiलडकि का षेकसिलमबि सेकसी कहानिhnde sax khne pto or mutmarodesiseyxxxxindianmarathisexkathaदेवर के साथ भाभी जी का सक्सी विटीव सारी xxx पटना के बिहार काwww.antervasnasexstore.comMoti gand ki choday hindi sexy story lagging phna karhendae sex stroeswashroomchudaistorymastram kahaniChut kahani hot hot xxxsuhagrat ki storyपरिवारxxx hindifontanatarvasna in hindikondam chadavto landgandi hindi kahaniyanhindisxestroyindian sex khaniyaanterwasnasexstories.comhindi chut ki chudai videowww.antervasnasexstore.comxxxhindivedio. mobiMarva ली gandkushboo nipplehindi com xxxnew stori himdi khani xhindi sex ki story2017-11 ki habhi ki saxy storibabi ne nanand ko sex karna sekaye antravasanaचाची को चोदने की कहानीकामुकता डौट कम मामी ने 16 साल का बेटे सकसsexhindestoriexxxxnx antharwasana sex kahaneXXX HINDE KHANEYAsexy story savita bhabhiभैया मुझे मोटा लँड दो कहानीसेकसी कहानी जबरजती की चाची की हिदी मे 2018 comdesi hindi sexy kahiney bahabiwww indain anti and padoshi san sex videoSexsBur.ruindian hindi sex kahaniyasexstories in bengaliindian sex hindi xxxseaxy storiesANTARWASNASEXYKAHANI.COMxxx indian sex hotbabi ki cudaiboobsphotokahaniantrvasna xxx hindi storychudai antarvasna hindifireehindisexsorisGURUMASTRAMSEXSTORYaduo codaie kahne urdoखोत मे चुवाई हिंदी कnonvegsexstoriकरवाचौथ के दिन चुदाईसेकसी कहानी जबरजती की चाची की हिदी मे 2018 comrishton me chuda ki kahaniyan with photosxxx risto ma hodayi ki khaniसेकसी कहानी जबरजती की चाची की हिदी मे 2018 comfree jabrjasat gandai chudai kahaniविडिऔ चूदाइ चूत नगि लकिhot sex kahani hindi mepublic sex hindi kahanimastramsexykahaniyaनई सेक्सी स्टोरी२०१८ kamukta कॉमdesi girl antervasna storisचुदाइ काहानियाँ दोस्तकि बिबीकि फोटोके साथkahaniya desiदीदी की सेक्स कथाwww.garryporn.tube/page/%E0%A4%97%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%B2%E0%A4%AB%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%88%E0%A4%82%E0%A4%A1-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B8%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B8%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B8-%E0%A4%B9%E0%A5%9C-%E0%A4%B5%E0%A5%80%E0%A4%A1%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A5%8B-%E0%A4%A1%E0%A4%BE%E0%A4%89%E0%A4%A8%E0%A4%B2%E0%A5%8B%E0%A4%A1-311459.html